Stories

काश ! पढाई का भी एक रिवाज होता …

दीदी मौसी माँ से कह रही थी कि लड़के और लडकियों को एक सा समझा जाने लगा है आजकल, फिर हमे क्यों पढ़ने नही भेजा जाता, इसका क्या मतलब हुआ दीदी ? - निधि ने अपनी गर्दन को ऊपर करते हुए उसके बाल बना रही बड़ी बह...
Read More