Stories

अनकहा प्यार ….

रात 1 बजे के बाद जहाँ अक्सर चांदनी रातो में रात का अँधेरा धीरे-धीरे फीका पड़ने लगता है वहीं आसमान में सुकून से बैठा चाँद और गहरा होता चला जाता है, मेरे कमरे की खिड़की से चाँद कुछ ज्यादा ही खुबसू...
Read More
Meri Diary Se

यूँ ही …

आज कुछ लिखने का मन है, बहुत दिन हो गये ऐसा कुछ नही लिखा जिससे मन को सुकून मिल सके .... कभी-कभी सब कुछ बहुत बोरिंग सा लगने लगता है, बैठे-बैठे अचानक से ऐसा हो जाता है, सोचती हूँ कैसे इतनी बड़ी जिंदगी ...
Read More
Hindi Poem (हिंदी कविता)

समझ पाओ अगर ..

सुबह चुपचाप निकली और चुपचाप चली गयी न जाने कितने किस्से रात की बांहों में छोड़ गयी हमें बस फ़िक्र तुम्हारी थी वरना क्या रखा था जीवन में तुम्हारे प्यार की खातिर की कोशिश जीने की ..... वज...
Read More
Meri Diary Se

मौन की भाषा …..

कभी-कभी कहने को कुछ नही होता, बस मन होता है कि कोई आये और खुद-ब-खुद हमारे मन की सब बाते समझ ले, सब कुछ कहना कहाँ मुमकिन है, कई बार बस मौन की भाषा में बात करने को जी चाहता है, लेकिन मौन कोई समझता नही...
Read More
Article

नींद ……

माँ कभी-कभी ख्वाब की तरह लगती हैं, अधुरा सा एक ख्वाब, जो सिर्फ एक ख्वाब है, हकीक़त होना जिसकी किस्मत में नही शायद .... जिंदगी के 14 साल न जाने कहाँ चले गये, पीछे मुड़कर देखो तो बस पेड़ो पर कांटे ही ...
Read More