Stories

दूसरे उपन्यास से …

आज सुबह जब बाहर बालकनी में चाय का कप हाथ में लेकर अखबार की सुर्खियो पर नजर डाल रहा थी तो अचानक मेरी नजर एक जानी पहचानी सी हैडलाइन पर आकर ठहर गई। घने काले मोटे अक्षरो में लिखा था ‘दुष्कर्म के आरोपियो...
Read More