Meri Diary Se

यूँ ही …

आज कुछ लिखने का मन है, बहुत दिन हो गये ऐसा कुछ नही लिखा जिससे मन को सुकून मिल सके .... कभी-कभी सब कुछ बहुत बोरिंग सा लगने लगता है, बैठे-बैठे अचानक से ऐसा हो जाता है, सोचती हूँ कैसे इतनी बड़ी जिंदगी ...
Read More
Hindi Poem (हिंदी कविता)

समझ पाओ अगर ..

सुबह चुपचाप निकली और चुपचाप चली गयी न जाने कितने किस्से रात की बांहों में छोड़ गयी हमें बस फ़िक्र तुम्हारी थी वरना क्या रखा था जीवन में तुम्हारे प्यार की खातिर की कोशिश जीने की ..... वज...
Read More
Article

नींद ……

माँ कभी-कभी ख्वाब की तरह लगती हैं, अधुरा सा एक ख्वाब, जो सिर्फ एक ख्वाब है, हकीक़त होना जिसकी किस्मत में नही शायद .... जिंदगी के 14 साल न जाने कहाँ चले गये, पीछे मुड़कर देखो तो बस पेड़ो पर कांटे ही ...
Read More