Article

कुछ सवाल शायद अनुत्तरित ही रह जाते हैं…

Posted On October 31, 2017 at 8:55 pm by / 2 Comments

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1

आंसूओ को आंखों में ही रहने दीजिये
वरना लोग समझेगें कि आप कमजोर हैं …

कुछ लोग हमारे जीवन में सिर्फ यादें देने के लिए आते हैं. अचानक से एक हवा के झोंके की तरह आते हैं और हवा के झोंके की तरह ही कब चले जाते हैं पता ही नहीं चल पाता. अपनी जिन्दगी में लाख व्यस्त होने के बाद भी हम हर पल उनकी यादों से घिरे रहते हैं. जीवन निरन्तर अपनी गति से चलता रहता है. हम सोते भी हैं, जागते भी हैं, खाते-पीते भी हैं. जिन्दगी का हर काम बखूबी करते रहते हैं, यहां तक की किसी दूसरे इंसान से बात भी करते रहते हैं मगर फिर भी, फिर भी मन के किसी कौने में उस इंसान की यादें उफान पर होती हैं।

एक ख्याल हमें हर वक्त घेरे रखता है. उसका यूं आना और यूं चले जाना. आखिर इस सब के पीछे मकसद क्या था. सब कुछ नॉर्मल सा चलता रहता है कि अचानक एक बेचैनी सी घेर लेती है. बेचैनी उस इंसान को फिर से पा लेने की। क्यों मन इतना तरसता है किसी के लिए जबकि हम समझते भी हैं कि आना-जाना तो निश्चित है. आज नहीं तो कल जाना ही है. फिर पागल मन समझता क्यों नहीं है. क्यों अचानक ही आंखें आंसूओ से भीग जाती है.

कुछ सवाल शायद अनुत्तरित ही रह जाते हैं…।।

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1

2 thoughts on “कुछ सवाल शायद अनुत्तरित ही रह जाते हैं…

  1. hasna tha gana tha rona tha jhagdna bhi tha lekin door nhi jana tha…. vaada to Yahi tha… fir pura Kyu nhi hua…. Dil ek gum ke Dariya me bah gya…. Jane Kaha wo apna rah gya…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *