Article

दुनिया सच में खुबसूरत है या आप ने स्वार्थ का चश्मा पहना है??

Posted On July 16, 2017 at 12:44 am by / No Comments

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

आँखे बंद करिए और अपनी जिंदगी को देखिये आप को सब कुछ अच्छा दिखाई देगा, वेल settled, आँखे बंद करिए अपने आस-पास देखिये आप को अब भी सब कुछ अच्छा दिखाई देखा, आप का गाँव, आप का शहर, आप का पड़ोस, आप के लोग सब कुछ अच्छा है, फिर से आँखे बंद करिए थोडा दूर तक देखिये, ये क्या कुछ हलचल हुई दिल में, आँखे मत खोलिए बस देखिये, कुछ ग़मगीन लोग दिखाई दिए, दिल में (अगर दिल है तो) जरा सा कुछ हुआ होगा, ये वो लोग हैं जो इतने गरीब हैं कि हर रोज़ काम करते हैं हर रोज़ पेट भरने के लिए, जिस दिन काम नही उस दिन खाना नही, इन्हें देखकर थोडा दुःख हुआ होगा, अब फिर से आँखे खोलिए और फिर से बंद करिए, और थोड़ी दूर तक जाइये, देखिये, बम ब्लास्ट दिखाई देंगे, हर जगह खून ही खून बहता दिखाई देगा, निर्दोष लोगो का खून, जानवर दिखाई देंगे, कटते हुए, मरते हुए, बहुत से लोगो का पसंदीदा खाना वही से आता है, ध्यान से देखिये अलग-अलग देशो में एक सा कर्तव्य निर्वाह करते सैनिक मरते दिखाई देंगे थोडा और आगे जाइये उनके रोते-बिलखते परिवार दिखाई देंगे, बहुत दुःख हो रहा होगा ये सब देखकर, चलिए एक बार और आँखे खोलिए और फिर से आँखे बंद करिए, आस-पास के सब मंजर भूल जाइये, सीधे-सीधे चलिए चलते जाइये, थोडा और दूर जाइये तब तक चलते रहिये जब तक दर्द दिल से रूह तक न पहुँच जाये, वो शहर वो गाँव दिखाई देंगे जहाँ मासूम लडकियों को उनके ही माँ-बाप पैसो के लिए बेच देते हैं, जो एक बार नही कई-कई बार बिकती हैं, वो देश दिखाई देंगे जहाँ अमानवीयता की सारी हदे पार की जा चुकी हैं, वो घर दिखाई देंगे जहाँ एक और दुर्गा की पूजा होती रहती है और दूसरी और लडकियों की खरीदारी. आँखे बंद रखिये और देखिये कुछ आत्माएं जख्मी दिखाई देंगी, ये वही आत्माएं हैं जिनके जख्मो का एक कारण हम भी हैं, डायरेक्ट या इनडायरेक्टली.

आप जानते नही, महसूस भी नही करते कि विभिन्न प्रकार के शरीर धारण किये हुए जिन जीवो से आप रीति-रिवाज, धर्म, रहन-सहन, जरूरत का नाम देकर अपना स्वार्थ सिद्ध करते हैं वह वास्तव में किस हद तक दुःख में होती है. कहा जाता है कि आत्माओ को दुःख नही होता, लेकिन शरीर जब चोट लगने पर प्रतिउतर न दे सके तब जख्म आत्मा पर ही होते हैं.

हँसते-मुस्कुराते चेहरे तो बहुत दिखेंगे आप को लेकिन वास्तव में आप ही के द्वारा जख्मी की गयी आत्माओ को जब आप देखेंगे तब वास्तव में पता चलेगा कि ये दुनिया सच में खुबसूरत है या आप ने स्वार्थ का चश्मा पहना है.

स्त्री-पुरुष, इन्सान-जानवर, जीव-जंतु  इन सब को खुद से अलग कर के दुनिया देखिये,  हर जगह बस आत्माएं दिखाई देंगे, एक जैसी आत्माएं, तब साफ़-साफ़ नज़र आ जायेगा कि एक पल में नष्ट हो जाने वाले शरीर के गुरुर में एक जैसी आत्माओ ने कितनी चोटें खायी हैं.

 

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *