Shayri

हूँ अंधेरो में कभी, कभी उजालो में हूँ

हूँ अंधेरो में कभी, कभी उजालो में हूँ मैं कहीं नही हूँ बस तेरे ख्यालो में हूँ छोड़ दी है कोशिश अब तो समझाने की तुझे कि मैं आवाराओ में नही तेरे दीवानो में हूँ पूछते हैं लोग मुझसे मेरी उदासी का
Read More
Hindi Poem (हिंदी कविता)

तुफानो से जरा कह दो संभल कर रहें

तुफानो से कह दो जरा संभल कर रहें हम ने भी अब अपना अंदाज बदल लिया है ... रख दिया है धैर्य अपना पुरानी सी गठरी में कहीं सिर पर भी अब कफ़न बांध लिया है ... न सोचें वो कि हम खामोश हैं तो बेजुबां
Read More
Shayri

दिल तो हो चुका है किसी और का …

दिल तो हो चुका है किसी और का अब तो जो भी होंगे वो बस समझौते होंगे मौत तक इंतज़ार तो अब करना होगा देख ऐ ज़िंदगी तेरी वजह से अब हमे न जाने कितनी बार मरना होगा .....!!
Read More
Shayri

दिलो को तोड़कर हासिल क्या होगा ?

दिलो को तोड़कर हासिल क्या होगा ? दिलो को जोड़कर भी हासिल क्या होगा ? कोई शर्त नही होती है मोहब्बत में अमल इसी बात पर करते आये हैं चाहा है तुझे हमने बिना ये सोचे कि इस चाहत का अंजाम क्या होगा
Read More
Shayri

शायरी

  ये आदत अच्छी नही तुम्हारी मेरा दिल जलाने की तुम्हारा ही घर जलता है आदत से बाज आ जाओ .... न सुनते हो न समझते हो बिना बात के मुझ पर बरसते हो तुम्हारा ही चैन खोता है आदत से बाज़ आ
Read More